Email : rajeramrao@gmail.com
Phone : 02344 - 246251

About Department

Establishment: June 1969

 

ABOUT 

 हिंदी विभाग की शुरुवात सन 1969 को हुई हैतब से लेकर आज तक इस विभाग ने महाविद्यालय के विकास मे बहुत योगदान दिया है lहिंदी छात्रवृत्ति तथा वार्षिक अंक

वार्षिक निकाल आदि उपलब्धि बहुत अच्छी है l

Vision (दृष्टिकोण)

१ गुणात्मक उन्नति पर ध्यान केंद्रित करना l

२ राष्ट्रीय एकता में वृद्धि करना l

३ मानवीय मूल्यों की रक्षा करना l

४ भाषा एवं भारतीय संस्कृति की उन्नति को बढावा देना l

५.हिंदी विषय के प्रति छात्र-छात्राओ में रुचि परिमार्जित करना l

Mission (लक्ष्य)

१ समूह प्रवृत्ति को बढावा देना l

२ हिंदी भाषा एवं साहित्य को बाजार मूल्य के साथ जोड़ देना l

३ छात्रों में भाषिक कौशल्य को विकसित करना l

४. अनुशासन प्रिय व्यक्तित्व का निर्माण करना l

५. राष्ट्रभाषा हिंदी के प्रति निष्ठा और प्रेम निर्माण करना l

 PROGRAM  OUTCOMES 

1. साहित्यिक विधाओं के स्वरूप से परिचित कराना l

2. छात्रों को नैतिक मूल्यों की जानकारी देकर जीवन संघर्ष के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण जागृत करना l

3. सामाजिक,राजनीतिक संस्कृतिक तथा विभिन्न परिस्थितियों से तत्कालीन साहित्य में आए परिवर्तन से परिचित कराके हिंदी साहित्य की विकास यात्रा से अवगत करना l

4. हिंदी भाषा के इतिहास से परिचित कराना l

5. छात्रों की सृजनात्मक प्रतिभा को जागृत करना l

6. रोजगार के अवसरों की जानकारी देकर कौशल्य विकसित करना l

7. मानक हिंदी भाषा के प्रयोग से परिचित करके  भाषा प्रयोग में शुद्धता के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण जागृत करना l

8. छात्रों की साहित्यिक समझ विकसित कर किसी रचना कों समग्रता में समझने और जाँचने- परखने की दृष्टि प्रदान करना l

 PROGRAM SPECIFIC OUTCOMES 

1. Paper VII/XII (विधा विशेष का अध्ययन)

1.छात्रों में मानवीय मूल्यों को विकसित करने में सहायक l

2. छात्रों में लेखन की तकनीक में सहायक l

3.छात्रों में संवाद कौशल्य विकसित करने में सहायक l

2. Paper VIII/XIII (साहित्यशास्त्र)

1.साहित्यिक सिद्धांतो की जानकारी प्राप्त करने में सहायक l

2. साहित्यिक आलोचना प्रविधि विकसित करने में उपयुक्त l

3. साहित्यिक विधाओं का परिचय कराने में उपयुक्त l

3. Paper IX/XIV (हिंदी साहित्य का इतिहास)

1.हिंदी साहित्य का उद्भव एवं विकास की प्रक्रिया जानने में सहायक l

2. मानवीय मूल्यों को विकसित करने में सहायक l

3. प्राचीन कवियों से लेकर आधुनिक कवियों का परिचय कराने में उपयुक्त l

4. Paper X/XV (प्रयोजन मूलक हिंदी)

1.हिंदी भाषा का व्यवहार में प्रयोजन कराने में सहायक l

2. रोजगार के अवसरो की जानकारी देने में उपयुक्त l

3.रोजगार संबंधी कौशल्य निर्माण में सहायक l

5. Paper XI/XVI (भाषाविज्ञान)

1.हिंदी भाषिक का उद्भव एवं विकास की प्रक्रिया समझने में सहायक l

2. हिंदी भाषिक  कौशल्य तथा व्याकरण की जानकारी देने में उपयुक्त l

3. भाषिक अंगो का विकास करने में उपयुक्त l